नई दिल्ली: इन्वेस्टमेंट बैंकिंग और कॉरपोरेट बैंकिंग में करीब 15 सालों के शानदार करियर के बाद हर्ष सोनी ने अब अपनी राह अलग करने का फैसला किया है. हर्ष सोनी अब कॉरपोरेट और इन्वेस्टमेंट बैंकिंग को छोड़कर स्टार्टअप की तरफ जाने का फैसला कर चुके हैं. सोनी का कहना है कि वह अब ग्राहकों के करीब पहुंचकर कुछ काम करना चाहते हैं. इसके साथ ही उनकी इच्छा अब कुछ नया बनाने की है, इसलिए वे कॉरपोरेट एवं इन्वेस्टमेंट बैंकिंग के ग्लैमरस कैरियर को छोड़कर स्टार्टअप का रुख कर चुके हैं.

Tata group की इस कंपनी के शेयर छह दिन से बने रॉकेट, 15% कमाई के लिए आप भी लगा सकते हैं दांव
इस साल मई में सोनी ने स्लाइस में कॉरपोरेट डेवलपमेंट हेड के तौर पर ज्वाइन किया था. उनकी भूमिका फिनटेक स्टार्ट अप के रणनीतिक कारोबार, निवेशकों से संबंध और बिजनेस फाइनेंस आदि को संभालने की थी. सोनी ने कहा, "इन्वेस्टमेंट बैंकिंग एक करियर के रूप में सीखने के लिए बहुत सारे अवसर प्रदान करता है. इसके साथ ही इसमें आपके करियर के ग्रोथ की असीम संभावनाएं हैं. इसके साथ ही इन्वेस्टमेंट बैंकिंग एक हाई प्रेशर जॉब है जिसमें लंबी अवधि में आप कंफर्टेबल महसूस नहीं करते. इसके साथ ही बार-बार एक ही तरह के काम, एक ही तरह के क्लाइंट और एक ही तरह का बिजनेस वास्तव में नीरसता से भरा हुआ है."

HDFC Banking & Financial Services Fund Direct - Growth

Fund Key Highlights
1. Current NAV: The Current Net Asset Value of the HDFC Banking & Financial Services Fund - Direct Plan as of @@[email protected]@ is Rs @@[email protected]@ for Growth option of its Direct plan.
2. Returns: Its trailing returns over different time periods are: -3.96% (1yr) and 4.33% (since launch). Whereas, Category returns for the same time duration are: -1.04% (1yr), 10.44% (3yr) and 7.02% (5yr).
3. Fund Size: The HDFC Banking & Financial Services Fund - Direct Plan currently holds Assets under Management worth of Rs 2462.52 crore as on Sep 30, 2022.
4. Expense ratio: The expense ratio of the fund is 0.5% for Direct plan as on Aug 31, 2022.
5. Exit Load: HDFC Banking & Financial Services Fund - Direct Plan shall attract an Exit Load, "Exit load of 1% if redeemed within 1 year."
6. Minimum Investment: Minimum investment required is Rs 100 and minimum additional investment is Rs 0. Minimum SIP investment is Rs 100.

No Data Available.

No Data Available.

No इनवेस्टमेंट बैंकिंग Data Available.

No Data Available.

No Data Available.

No Data Available.

About Fund
1. HDFC Banking & Financial Services Fund - Direct Plan is Open-ended Sectoral-Banking Equity scheme which belongs to HDFC Mutual Fund House.
2. The fund was launched on Jun 30, 2021.

Investment objective & Benchmark
1. The investment objective of the fund is that " The scheme seeks to provide long-term capital appreciation by investing predominantly in equity and equity related instruments of companies engaged in banking and financial services. "
2. It is benchmarked against NIFTY Financial Services Total Return Index.

Asset Allocation & Portfolio Composition
1. The asset allocation of the fund comprises around 98.43% in equities, 0.0% in debts and 1.57% in cash & cash equivalents.
2. While the top 10 equity holdings constitute around 78.91% of the assets, the top 3 sectors constitute around 98.43% of the assets.
3. The fund largely follows a Growth oriented style of investing and invests across market capitalisations - around 0.0% in giant & large cap companies, 0.0% in mid cap and 0.0% in small cap companies.

Tax Implications
1. Gains are taxed at a rate of 15% (Short-term Capital Gain Tax - STCG) if units are redeemed within 1 year of investment.
2. For units redeemed after 1 year of investment, gains of upto Rs. 1 lakh accruing from those units in a financial year इनवेस्टमेंट बैंकिंग shall be exempted from tax.
3. Gains of more than Rs. 1 lakh will be taxed at a rate of 10% (Long-term Capital Gain Tax - LTCG).
4. For Dividend Distribution Tax, the dividend income from this fund will get added to the income of an investor and taxed according to his/her respective tax slabs.
5. Also, for dividend income in excess of Rs 5,000 in a financial year; the fund house shall deduct a TDS of 10% on such income.

बैंक ऑफ महाराष्ट्र

बैंक ऑफ महाराष्‍ट्र कभी भी फोन कॉल/ई-मेल/एसएमएस के माध्‍यम से किसी भी उद्देश्‍य हेतु बैंक खाते के ब्‍यौरे नहीं मांगता।
बैंक सभी ग्राहकों से अपील करता है कि ऐसे किसी भी फोन कॉल/ई-मेल/एसएमएस का उत्‍तर न दें, और किसी से भी, किसी भी उद्देश्‍य हेतु अपने बैंक खाते के ब्‍यौरे साझा न करें। किसी से भी अपने डेबिट/क्रेडिट कार्ड का सीवीवी/पिन साझा न करें।

Investment Opportunities

This is to inform you that by clicking on continue, you will be leaving our website and entering the website/Microsite operated by Insurance tie up partner. This link is provided on our Bank’s website for customer convenience and Bank of Baroda does not own or control of this website, and is not responsible for its contents. The Website/Microsite is fully owned & Maintained by Insurance tie up partner.

The use of any of the Insurance’s tie up partners website is subject to the terms of use and other terms and guidelines, if any, contained within tie up partners website.

Thank you for visiting www.bankofbaroda.in

We use cookies (and similar tools) to enhance your experience on our website. To learn more on our cookie policy, Privacy Policy and Terms & Conditions please click here. By continuing to browse this website, you consent to our use of cookies and agree to the Privacy Policy and Terms & Conditions.

Erste Investment

पहले निवेश बैंक / बचत ऑस्ट्रिया के पहले आवेदन के साथ आप प्रतिभूतियों के हमारे नवीनतम प्रस्ताव पर हमेशा ऊपर से तारीख कर रहे हैं और नवीनतम बाजार की जानकारी प्राप्त करते हैं.

बांड, संरचनात्मक उत्पादों, प्रमाण पत्र, वारंट या ब्याज दर टोपी की हमारी सीमा से चुनें. आपकी व्यक्तिगत निगरानी करने के लिए अपने पसंदीदा रखो. सबसे महत्वपूर्ण अनुक्रमित के विकास का पालन करें और दैनिक विदेशी मुद्राओं और कीमती धातुओं की मौजूदा दर को देखते हैं. नवीनतम विश्लेषण करती है और Erste समूह अनुसंधान का आकलन पढ़ें. यह और भी बहुत कुछ पहली बार निवेश अनुप्रयोग Erste बैंक / बचत बैंक ऑस्ट्रिया प्रदान करता है.

डेटा की सुरक्षा

डेवलपर यहां इस बारे में जानकारी दे सकते हैं कि उनका ऐप्लिकेशन आपके डेटा को कैसे इकट्ठा और इस्तेमाल इनवेस्टमेंट बैंकिंग करता है. डेटा की सुरक्षा के बारे में ज़्यादा जानें

नया क्या है

Neue Funktionen:
Preisanzeige s Gold Plan इनवेस्टमेंट बैंकिंग इनवेस्टमेंट बैंकिंग
Aktualisierung der Zinssätze (Ablöse LIBOR)
Diverse Anpassungen und Fehlerbehebungen

इनवेस्टमेंट बैंकिंग में 15 साल के शानदार करियर के बाद हर्ष सोनी ने क्यों किया स्टार्टअप का फैसला?

सोनी का कहना है कि वह अब ग्राहकों के करीब पहुंचकर कुछ काम करना चाहते हैं. इसके साथ ही उनकी इच्छा अब कुछ नया बनाने की है, इसलिए वे कॉरपोरेट एवं इन्वेस्टमेंट बैंकिंग के ग्लैमरस कैरियर को छोड़कर स्टार्टअप का रुख कर चुके हैं. कई बैंकर ने हाई ग्रोथ कॉर्पोरेट या नई एज कंपनियों में रणनीति सलाहकार के रूप में काम करना ज्यादा पसंद किया.

हर्ष सोनी..

नई दिल्ली: इन्वेस्टमेंट बैंकिंग और कॉरपोरेट बैंकिंग में करीब 15 सालों के शानदार करियर के बाद हर्ष सोनी ने अब अपनी राह अलग करने का फैसला किया है. हर्ष सोनी अब कॉरपोरेट और इन्वेस्टमेंट बैंकिंग को छोड़कर स्टार्टअप की तरफ जाने का फैसला कर चुके हैं. सोनी का कहना है कि वह अब ग्राहकों के करीब पहुंचकर कुछ काम करना चाहते हैं. इसके साथ ही उनकी इच्छा अब कुछ नया बनाने की है, इसलिए वे कॉरपोरेट एवं इनवेस्टमेंट बैंकिंग इन्वेस्टमेंट बैंकिंग के ग्लैमरस कैरियर को छोड़कर स्टार्टअप का रुख कर चुके हैं.

Tata group की इस कंपनी के शेयर छह दिन से बने रॉकेट, 15% कमाई के लिए आप भी लगा सकते हैं दांव
इस साल मई में सोनी ने स्लाइस में कॉरपोरेट डेवलपमेंट हेड के तौर पर ज्वाइन किया था. उनकी भूमिका फिनटेक स्टार्ट अप के रणनीतिक कारोबार, निवेशकों से संबंध और बिजनेस फाइनेंस आदि को संभालने की थी. सोनी ने कहा, "इन्वेस्टमेंट बैंकिंग एक करियर के रूप में इनवेस्टमेंट बैंकिंग सीखने के लिए बहुत सारे अवसर प्रदान करता है. इसके साथ ही इसमें आपके करियर के ग्रोथ की असीम संभावनाएं हैं. इसके साथ ही इन्वेस्टमेंट बैंकिंग एक हाई प्रेशर जॉब है जिसमें लंबी अवधि में आप कंफर्टेबल महसूस नहीं करते. इसके साथ ही बार-बार एक ही तरह के काम, एक ही तरह के क्लाइंट और एक ही तरह का बिजनेस वास्तव में नीरसता से भरा हुआ है."

सोनी इनवेस्टमेंइनवेस्टमेंट बैंकिंग ट बैंकिंग ने कहा, "टेक स्टार्टअप वास्तव में कटिंग एज टेक्नोलॉजी की वजह से बहुत सारी समस्याओं का समाधान लेकर आए हैं. ग्राहकों के साथ सीधे काम करने की इच्छा और इस कारोबार में असीम संभावनाओं ने उन्हें स्टार्टअप की तरफ मूव किया है."

हर्ष सोनी बैंक ऑफ अमेरिका से स्लाइस में आए थे. सोनी ने कहा कि यह ट्रांजिशन उनके लिए बेहतरीन था, हालांकि सोनी इन्वेस्टमेंट बैंकिंग के चमकते दुनिया को छोड़ कर अब स्टार्टअप में फैसला आने का फैसला कर चुके हैं.

वास्तव में इन्वेस्टमेंट बैंकिंग के शानदार करियर को छोड़कर पिछले कुछ समय में कई बैंकर दूसरे फील्ड में चले गए हैं. बेहतरीन वेतन, शानदार करियर और आईपीओ के साथ मर्जर एंड एक्विजिशन जैसी गतिविधियों की वजह से इन्वेस्टमेंट बैंकिंग कमाई के लिए दुनिया के सबसे बेहतर करियर ऑप्शन में से एक है.

इसके बाद भी कई बैंकर ने हाई ग्रोथ कॉर्पोरेट या नई एज कंपनियों में रणनीति सलाहकार के रूप में काम करना ज्यादा पसंद किया और उन्होंने इन्वेस्टमेंट बैंकिंग करियर को छोड़ने का फैसला किया है.

अगर बात इन्वेस्टमेंट बैंक्स की करें तो पिछले 6 महीने में मिडिल से सीनियर लेवल के 150 अधिकारियों ने सेक्टर को छोड़कर दूसरा कारोबार ज्वाइन करने का फैसला किया है. एग्जीक्यूटिव सर्च फर्म नेटिव के आंकड़ों से यह जानकारी मिली है.

घरेलू बैंक और फाइनेंसियल सर्विस इंस्टिट्यूशन में इस तरह की घटनाओं की हिस्सेदारी 74 फ़ीसदी से अधिक है. पिछले कुछ सालों के आंकड़ों की इनवेस्टमेंट बैंकिंग बात करें तो ग्लोबल इन्वेस्टमेंट बैंक से बाहर निकलने वाले एग्जीक्यूटिव की संख्या दोगुनी हो चुकी है.

रेटिंग: 4.59
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 660