समाप्ति तिथियां साप्ताहिक से लेकर महीनों तक हो सकती हैं. लेकिन साप्ताहिक ऑप्शन सबसे अधिक जोखिम वाले होते हैं और अनुभवी ऑप्शन ट्रेडर्स ज्यादातर इन्ही में ट्रेड करते हैं.

Paytm पर अब शेयर भी खरीद-बेच सकते हैं, जानिए कैसे करेगा यह काम

पेटीएम मनी (Paytm Money) से भी अब आप कंपनियों के शेयर की खरीद-बिक्री कर सकेंगे। इसके लिए पेटीएम (Paytm) ने अपने ऑनलाइन निवेश और वेल्थ मैनेजमेंट प्लेटफॉर्म पेटीएम मनी पर स्टॉक ट्रेडिंग (Stock trading) फीचर लॉन्च किया है। हालांकि, कंपनी ने अभी केवल बीटा वर्जन पर सिर्फ 80 हजार एंड्रॉयड यूजर्स के लिए ही यह सेवा शुरू की है। पेटीएम की योजना अगले 6 से 8 हफ्तों में अपने सभी यूजर के लिए रिटेल शेयर ब्रोकिंग सेवा (Share Broking Service) शुरू करने की है।

Paytm ने कहा कि शेयर ब्रोकिंग के लिए केवाईसी (KYC) और अकाउंट खोलने का प्रोसेस भी पूरी तरह से पेपरलैस होगा। यूजर इस ऐप के जरिये डिजिटली अपना डीमैट अकाउंट खोल सकेंगे और शेयर में इनवेस्ट करने के साथ उसकी खरीद-बिक्री और किसी भी कंपनी के शेयर के बारे में विस्तार से रिसर्च कर सकेंगे। कंपनी ने कहा कि पेटीएम मनी ऐप से उपभोक्ता शेयर मार्केट में विभिन्न कंपनियों के शेयर की ट्रेडिंग कर सकेंगे। इसके साथ ही यूजर 50 स्टॉक्स के रीयल टाइम मूल्य को आसानी से ट्रैक कर सकते हैं और अपनी सुविधा के हिसाब से अलर्ट लगा सकते हैं। इस ऐप में दिन के टॉप गेनर, लूजर सहित और भी कई तरह की सुविधाएं दी गई हैं।

ऐसे समझे ऑप्शन ट्रेडिंग को

जैसे बैंक से पैसे निकालने या जमा करने के लिए हमें बैंक में खाता खुलवाना होता है, वैसे ही अगर आप स्टॉक मार्केट में ट्रेंडिग करना चाहते है तो आपको किसी ब्रोकर के पास ट्रेडिंग खाता खोलना होगा. इसके लिए आपको एक डीमैट खाता और ट्रेडिंग खाता खोलना होगा तभी आप ऑप्शन ट्रेडिंग कर पाएंगे.

  • हमें लंबे समय तक ट्रेड करना है इसलिए ऐसा स्टॉक ब्रोकर चुने, जिसकी ब्रोकरेज चार्जेज कम हो और अन्य चार्जेज भी कम हो, क्योंकि अगर शुल्क ज़्यादा हुये तो इससे आपका मुनाफा घट सकता है.
  • ऐसा स्टॉक ब्रोकर चुने, जिसका ट्रेडिंग पोर्टल और एप बहुत ही सिम्पल हो, और जिसमें टेक्निकल गड़बड़ी कम हो. क्योंकि कभी-कभी कुछ स्टॉक ब्रोकर के पोर्टल और एप में टेक्निकल ट्रेडिंग कैसे बेचें? गड़बड़ी हो जाती है जिससे ट्रेडर्स को काफी नुकसान उठाना पड़ सकता है.

ऑप्शन ट्रेडिंग के बेसिक्स को अच्छी तरह से समझें

  • ऑप्शन क्या होते है?
  • ऑप्शन कितने तरह के होते है?
  • ऑप्शन कैसे काम करते है?
    बिना ऑप्शन के बेसिक्स को समझे आप ऑप्शन ट्रेडर नहीं बन सकते है क्योंकि ऑप्शन बेसिक्स हमारे नींव की तरह काम करते है. जब आप कोई स्टॉक खरीदते हैं, तो आप केवल यह तय करते हैं कि आपको कितने शेयर चाहिए और आपका ब्रोकर मौजूदा बाजार मूल्य या आपके द्वारा निर्धारित सीमा मूल्य पर ऑर्डर भरता है लेकिन ऑप्शन ट्रेडिंग के लिए ज़रूरी होती है सिर्फ एक सही स्ट्रेटेजी की समझे. इसके लिए नीचे आपको समझाया जायेगा कि ऑप्शन ट्रेडिंग कैसे करते हैं.

ऑप्शन खरीददार और ऑप्शन सेलर

  • ऑप्शन खरीददार :- ऑप्शन खरीददार बहुत कम पैसो के साथ ट्रेडिंग शुरुआत कर सकते है क्योंकि ऑप्शन खरीददार को सिर्फ ऑप्शन प्रीमियम देना होता है लेकिन ऑप्शन खरीददार की लाभ कमाने की प्रवृति ऑप्शन सैलर के मुकाबले बहुत कम होती है.
  • ऑप्शन सेलर :ट्रेडिंग कैसे बेचें? - ऑप्शन सेलर बनने के लिए आपको अपने अकाउंट में मार्जिन रखना होता है और इसी कारण एक ऑप्शन सेलर को ज़्यादा पैसो की जरुरत होती है. जबसे सेबी ने नया मार्जिन नियम लागू किया है तब से ऑप्शन सेलिंग के लिए मार्जिन की ज़रुरत कई गुना तक बढ़ गई ट्रेडिंग कैसे बेचें? है लेकिन फिर भी एक ऑप्शन सेलर के लाभ कमाने की प्रवृति ऑप्शन खरीददार से ज्यादा होती है. आपने जो भी ऑप्शन ट्रेडिग के केपिटल रखा है उस हिसाब से आप देख सकते है कि आप ऑप्शन खरीददार बनना चाहते है या ऑप्शन सेलर
  • कॉल ऑप्शन :- यह एक अनुबंध है जो आपको एक निश्चित समय के अंदर ही एक पूर्व निर्धारित मूल्य पर स्टॉक खरीदने का अधिकार देता है, लेकिन दायित्व नहीं.
  • पुट ऑप्शन :- एक पुट ऑप्शन आपको अनुबंध समाप्त होने से पहले एक निश्चित कीमत पर शेयर बेचने का अधिकार देता है, लेकिन दायित्व नहीं.
    आप किस दिशा में क्या ऑप्शन खरीदेंगे या बेचेंगे?
    अगर आपको लगता है कि स्टॉक की कीमत बढ़ेगी: कॉल ऑप्शन खरीदें या पुट ऑप्शन बेचें.
    अगर आपको लगता है कि स्टॉक की कीमत स्थिर रहेगी: कॉल ऑप्शन बेचें और पुट ऑप्शन भी ट्रेडिंग कैसे बेचें? बेचें.
    अगर आपको लगता है कि स्टॉक की कीमत नीचे जाएगी: पुट ऑप्शन खरीदें या कॉल ऑप्शन बेचें.

एक्स्चेंज द्वारा तय सही स्ट्राइक प्राइस का चयन करें

ऑप्शन में ट्रेडिंग करते समय हमें बहुत सावधानी के साथ स्ट्राइक प्राइस का चयन करना होता है क्योंकि किसी भी स्टॉक या इंडेक्स की स्ट्राइक प्राइस एक्स्चेंज द्वारा तय की जाती है और एक ऑप्शन ट्रेडर सिर्फ उन्ही स्ट्राइक प्राइस पर ट्रेड कर सकता है ट्रेडिंग कैसे बेचें? जो एक्स्चेंज द्वारा तय की गई है.
उदाहरण के लिए, यदि आप मानते हैं कि किसी कंपनी का शेयर मूल्य वर्तमान में ₹2000 पर ट्रेड कर रहा है, और भविष्य की किसी तारीख तक ₹2050 तक बढ़ जाएगा, आप ₹2050 से कम स्ट्राइक मूल्य के साथ एक कॉल ऑप्शन खरीद सकते है. फिर जैसे-जैसे कंपनी का शेयर मूल्य ₹2050 के नजदीक जाता जाएगा, आपका लाभ बढ़ता जायेगा. इसी तरह अगर कंपनी का शेयर मूल्य उस भविष्य की तारीख तक ₹2000 से जैसे-जैसे कम होगा, आपका मुनफा कम होता चला जायेगा लेकिन ऑप्शन खरीदते हुए आपका अधिकतम नुकसान आपने जो ट्रेडिंग कैसे बेचें? प्रीमियम दिया है सिर्फ वही होगा.

आरवीएनएल के स्टॉक में ट्रेडिंग करेक्शन का समय है : शोमेश कुमार की सलाह

बाजार विश्लेषक शोमेश कुमार : आरवीएनएल के स्टॉक में अभी ट्रेडिंग करेक्शन लग रहा है। इसमें कोई दिक्कत नहीं है। अभी इसे 62 रुपये के स्तर पर जाकर रुकना चाहिये। इसके नीचे अगर ये खिसका तो लंबा चला जायेगा और फिर दिक्कत हो सकती है। 75-76 रुपये के स्तर से ट्रेडिंग कैसे बेचें? पहले इसका ऊपर ट्रेंड बहाल नहीं होगा। यह स्टॉक कंसॉलिडेट करेगा। बाकी इसमें कुछ खास परेशान होने जैसा नहीं है।

#rvnlsharelatestnews #rvnlsharenews #rvnlshare #rvnlsharenewstoday #rvnlshareprice #rvnlsharetarget #rvnlshareanalysis #rvnlsharepricetoday #rvnlsharereview #rvnlshareprediction #railvikasnigamsharenews #railvikasnigamlatestnews #shomeshkumar

रेटिंग: 4.90
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 86