एक्सपर्ट्स की सलाह आएगी काम
मुहूर्त ट्रेडिंग के दौरान शेयरों में निवेश को लेकर कुछ खास बातों का ध्यान रखने से आप घाटे में नहीं रहेंगे, बल्कि जैसा सोचा है उसी हिसाब से मुनाफा मिल सकता है, इसके लिए शेयर बाजार एक्सपर्ट्स ने टिप्स बताए हैं। बिजनेस टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, विशेषज्ञों का कहना है कि निवेश के मूल सिद्धांतों के साथ बने रहें और कम अवधि में त्वरित रिटर्न के लिए जल्दबाजी में निर्णय बिल्कुल भी न लें, उन्होंने निवेशकों को मध्यम से लंबी अवधि के निवेश की सलाह दी है।
आवर्स ट्रेडिंग का समय क्या है

गोल्ड ईटीएफ बेहतर या सॉवरिन गोल्ड बॉन्ड

हालिया दिनों कीमतों में आई नरमी के बाद निवेश के नजरिये से सोने के प्रति लोगों का रुझान बढ़ा है। लोग यह भी समझने लगे हैं कि फिजिकल गोल्ड आवर्स ट्रेडिंग का समय क्या है के बजाय पेपर गोल्ड में निवेश करना ज्यादा बेहतर है। लेकिन ज्यादातर लोग इस बात को लेकर दुविधा में होते हैं कि पेपर गोल्ड में निवेश के दो पॉपुलर विकल्प यानी गोल्ड ईटीएफ और सॉवरिन गोल्ड बॉन्ड में से किसमें निवेश किया जाए। आज अलग-अलग कसौटियों पर इन्हीं दो विकल्पों को परखते हैं ताकि निवेशकों को किसी एक विकल्प के चयन में आसानी हो सके।

निवेश की सीमा

सॉवरिन गोल्ड बॉन्ड और गोल्ड ईटीएफ दोनो में निवेशकों को प्रति यूनिट गोल्ड में निवेश का मौका मिलता है। लेकिन इसके लिए उन्हें फिजिकल फॉर्म में सोना रखने की जरूरत नहीं होती। गोल्ड ईटीएफ और बॉन्ड दोनों में एक यूनिट की कीमत 1 ग्राम सोने की कीमत के बराबर होती है। मतलब आप सॉवरिन गोल्ड बॉन्ड और गोल्ड ईटीएफ दोनों में कम से कम आवर्स ट्रेडिंग का समय क्या है 1 ग्राम गोल्ड के बराबर वैल्यू की एक यूनिट में निवेश कर सकते हैं। गोल्ड ईटीएफ में अधिकतम निवेश की कोई सीमा नहीं है। जबकि सॉवरिन बॉन्ड में एक व्यक्ति एक वित्त वर्ष में अधिकतम 4 किलोग्राम सोने की कीमत के बराबर यूनिट में निवेश कर सकता आवर्स ट्रेडिंग का समय क्या है है। ध्यान रहे गोल्ड ईटीएफ और सॉवरिन बॉन्ड दोनों में सोना सिर्फ अंडरलाइंग एसेट है इसलिए रिडेम्प्शन के बाद फिजिकल गोल्ड नहीं बल्कि अंडरलाइंग ऐसेट यानी सोने की कीमत भारतीय रुपये में मिलेगी।

लो ब्रोकरेज डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट

बजाज फाइनेंशियल सिक्योरिटीज़ लिमिटेड (बीएफएसएल) एनएसडीएल और सीडीएसएल के साथ एक डिपॉजिटरी भागीदार है और इक्विटी और इक्विटी डेरिवेटिव सेगमेंट के लिए एनएसई और बीएसई का एक रजिस्टर्ड मेंबर है. आप एक आसान और पेपरलेस प्रोसेस के माध्यम से बीएफएसएल के साथ मुफ्त* डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट खोल सकते हैं.

शेयर मार्केट में ट्रेडिंग शुरू करने के लिए डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट की आवश्यकता होती है. डीमैट अकाउंट में आपके शेयर डिजिटल मोड में रहते हैं, और ट्रेडिंग अकाउंट आपको शेयर की बिक्री और खरीद के लिए ऑर्डर देने में मदद करता है.

बीएफएसएल के साथ ट्रेडिंग कई अन्य लाभ प्रदान करती है, क्योंकि आप कई किफायती सब्सक्रिप्शन पैक में से कोई एक चुन सकते हैं और इंडस्ट्री के सबसे कम ब्रोकरेज शुल्क में से किसी एक का लाभ उठा सकते हैं.

*मुफ्त अकाउंट फ्रीडम सब्सक्रिप्शन पैक के माध्यम से खोला का सकता है, जहां पहले वर्ष शून्य वार्षिक सब्सक्रिप्शन शुल्क होता है और दूसरे वर्ष से रु. 431 का शुल्क होता है. डीमैट एएमसी शून्य है.

डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट खोलने के लिए आवश्यक डॉक्यूमेंट

कृपया डीमैट और ट्रेडिंग अकाउंट खोलते समय निम्नलिखित डॉक्यूमेंट तैयार रखें:

पासपोर्ट, ड्राइविंग लाइसेंस, वोटर आईडी, आधार कार्ड या पिछले 3 महीनों के बैंक अकाउंट स्टेटमेंट

एफ&ओ ट्रेडिंग के लिए इनकम प्रूफ (इनमें से कोई एक)

पिछले 6 महीनों के बैंक अकाउंट स्टेटमेंट, पिछले 3 महीनों की सेलरी स्लिप, नेट-वर्थ सर्टिफिकेट, होल्डिंग रिपोर्ट, आईटीआर स्टेटमेंट, डीमैट होल्डिंग स्टेटमेंट

कैंसल किया गया चेक, आईएफएससी कोड सहित बैंक स्टेटमेंट और बैंक अकाउंट नंबर

रेटिंग: 4.84
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 793