बंटवारे का ऐसा सिविल सूट एसडीएम की कोर्ट में दर्ज होता है जिसे हिंदी में उपखंड अधिकारी कहा जाता है। यह आमतौर पर तीन लाइव खाता प्रकार उस गांव की लगने वाली तहसील में बैठते हैं जहां वह जमीन स्थित होती है। यहां पर एक सिविल सूट दाखिल करना होता है जिसमें जो पक्षकार बंटवारा चाहता है वह उस जमीन में अपना हित साबित करता है।

Covid-19 Meeting: कोरोना को लेकर पीएम मोदी ने बुलाई रिव्यू मीटिंग, निगरानी उपायों पर दिया जोर

1 जनवरी से इस बैंक में 10,000 रुपये की जमा और निकासी पर लगेगा शुल्क, यहां जानें क्या होंगी नई दरें?

Updated: December 20, 2021 4:35 PM IST

India Post Payments Bank

India Post Payments Bank: इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक (IPPB) के ग्राहकों के लिए अगले महीने से थोड़ा दिक्कतों का सामना करना होगा. इस बैंक तीन लाइव खाता प्रकार के खाताधारकों को 10,000 रुपये की राशि जमा करने और निकालने के लिए शुल्क देना होगा. नया नियम एक जनवरी 2022 से लागू होगा. इंडिया पोस्ट पेमेंट्स बैंक के ग्राहकों के लिए तीन प्रकार के बचत खाते हैं: (ए) मूल बचत खाता, (तीन लाइव खाता प्रकार बी) बचत (मूल एसए के अलावा) और चालू खाते, और (सी) बचत (मूल एसए के अलावा) और चालू तीन लाइव खाता प्रकार खाते.

Also Read:

आईपीपीबी ने सभी संबंधितों को सूचित किया है कि नीचे उल्लिखित नकद जमा और नकद निकासी लेनदेन पर शुल्क 01 जनवरी, 2022 से नीचे उल्लिखित दरों पर प्रभावी होगा.

नकद लेनदेन शुल्क पर नई दर/शुल्क तालिका देखें

खाता प्रकार लेनदेन प्रकार निःशुल्क सीमा शुल्क

बेसिक सेविंग अकाउंट कैश विदड्रॉल फ्री, प्रति माह 4 ट्रांजैक्शन तक पोस्ट फ्री लिमिट, मूल्य का 0.50% न्यूनतम रु. 25 प्रति लेनदेन
मूल बचत खाता नकद जमा नि:शुल्क नहीं N A

सेविंग्स (बेसिक एसए के अलावा) और करंट अकाउंट्स कैश विदड्रॉल फ्री, रुपये तक. 25,000 प्रति माह. पोस्ट फ्री लिमिट, मूल्य का 0.50% न्यूनतम रु. 25 प्रति लेनदेन

बचत (मूल एसए के अलावा) और चालू खाते नकद जमा मुफ्त, रु. 10,000 प्रति माह. पोस्ट फ्री लिमिट, मूल्य का 0.50% न्यूनतम रु. 25 प्रति लेनदेन

आईपीपीबी ने कहा कि उपरोक्त कीमतें जीएसटी / सेस को छोड़कर लागू दरों पर लागू होंगी.

जानिए खेती की जमीन का बंटवारा कैसे होता है

जानिए खेती की जमीन का बंटवारा कैसे होता है

भारत में अधिकांश लोगों के पास खेती की जमीन होती तीन लाइव खाता प्रकार है। खेती भारत के प्रमुख धंधों में से एक है। ऐसी खेती की जमीन या तो स्वयं द्वारा अर्जित होती है या फिर अपने परिवारजन से उत्तराधिकार में मिलती है।कभी-कभी परिवारों में ऐसी स्थिति का जन्म हो जाता है कि परिवारजनों की आपस में बनती नहीं है और विवाद होते हैं तब खेती की जमीन की बंटवारे की स्थिति आ जाती है और पक्षकार आपस में बंटवारा चाहते हैं।

इस स्थिति में भी कुछ पक्षकार बंटवारा चाहते हैं और कुछ पक्षकार बंटवारा नहीं चाहते हैं पर अगर किसी व्यक्ति का कोई हित किसी खेती तीन लाइव खाता प्रकार की जमीन में है तब उसके पास यह अधिकार होता है कि वह ऐसा बंटवारा प्राप्त करके और जमीन को अपने नाम रजिस्टर्ड करवा दें।

जानिए कितनी तरह के होते हैं Savings Account, अपने फायदे के अनुसार करें सिलेक्ट

जानिए कितनी तरह के होते हैं Savings Account, अपने फायदे के अनुसार करें सिलेक्ट

आजकल अधिकांश लोगों के सेविंग अकाउंट जरूर होते हैं, लेकिन बहुत कम लोगों को पता है कि Savings Account भी कई तरह के होते हैं और खाताधारक अपनी जरूरत के हिसाब से अपना सेविंग अकाउंट खोल सकता तीन लाइव खाता प्रकार है। दरअसल हर व्यक्ति अपनी जरूरत तीन लाइव खाता प्रकार के हिसाब से अलग-अलग Savings Account खोल सकता हैं। कामकाजी लोगों के लिए अलग सेविंग अकाउंट है, बुजुर्गों के लिए अलग, महिलाओं के लिए अलग तीन लाइव खाता प्रकार और बच्चों के लिए अलग। बैंकों में कुल मिलाकर 6 तरह के तीन लाइव खाता प्रकार Savings Account होते हैं। यहां जानें इसके बारे में विस्तार से -

इस Savings Account को कुछ बुनियादी शर्तों पर खोला जाता है। इस प्रकार के खाते में किसी निश्चित राशि का तीन लाइव खाता प्रकार कोई नियमित जमा नहीं होता है, इसका उपयोग एक सुरक्षित खाते की तरह किया जा सकता है, जहां तीन लाइव खाता प्रकार आप अपना पैसा ही रख सकते हैं। इसमें मिनिमम बैलेंस की शर्त भी है।

रेटिंग: 4.30
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 332